बुधवार, 20 मई 2009

शान्ति चाहिए तो...

माननीय उच्चतम न्यायलय का कहना है ...
सुखी जीवन हेतु






















( हिन्दुस्तान अखबार से साभार )

कोई टिप्पणी नहीं: