शनिवार, 26 सितंबर 2009

गुस्सा मजहब का गरीबी का


"...मुसलमान ने हिन्दुओं को लूटा है...पर हिन्दू सैकडों वर्ष से इन लोगो को लूटते, निचोड़ते चले आ रहे है, नही तो एक ही जमीन पर रहनेवालों में अमीरी-गरीबी का इतना फरक क्यों होता है? पंजाब की सब जायजाद हिन्दुओं के ही हाथ क्यों चली जाती। गरीब पहले गुस्से में मुसलमान...गुस्सा मजहब का भी है और गरीबी का भी है ।"

यशपाल झूठा सच

1 टिप्पणी:

गिरीश बिल्लोरे 'मुकुल' ने कहा…

यहां आपसे असहमत हूं...
गुस्से में मुसलमान...गुस्सा मजहब का ही है