मंगलवार, 11 जनवरी 2011

वार्षिक हिंदी ब्लॉग विश्लेषण-२०१० (भाग-१०)

.....गतांक से आगे


प्रथम छमाही के यादगार आलेखों/रचनाओं तथा महत्वपूर्ण पोस्ट की चर्चा के बाद आईये चलते हैं दूसरी छमाही में प्रकाशित कुछ यादगार पोस्ट की ओर । दूसरी तिमाही के उत्तरार्ध में हिंदी ब्लॉग टिप्स ने यह जानकारी दी की १०० से अधिक फॉलोवर वाले ब्लॉग की संख्या १०० तक पहुँच चुकी है , यह जानकर सुखद आश्चर्य हुआ, किन्तु यह स्थिति १८ सितम्बर तक की थी । ३१ दिसंबर तक की स्थिति पर गौर करें तो व्यक्तिगत ब्लॉग की श्रेणी में हिंदी ब्लॉग टिप्स १००० प्रशंसकों के संमूह में तथा शब्दों का सफ़र ५०० प्रशंसकों के समूह में एकलौते नज़र आये, जबकि १०० से ४०० प्रशंसकों वाले ब्लॉग की सूची में लगभग १२५ के आसपास , जिनमें से प्रमुख है -महाजाल पर सुरेश चिपलूनकर,हरकीरत ' हीर, दिल की बात छींटें और बौछारें,ताऊ डाट इन,काव्य मंजूषा,मेरी भावनाएं,व्योम के पार ,GULDASTE - E - SHAYARI,लहरें,ज़िन्दगी…एक खामोश सफ़र,पाल ले इक रोग नादां...,Rhythm of words...,प्रिंट मीडिया पर ब्लॉगचर्चा,अंतर्द्वंद्व ,Hindi Tech Blog - तकनीक हिंदी में,उच्चार,नीरज,मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति,चक्रधर की चकल्लस,अमीर धरती गरीब लोग,गुलाबी कोंपलें,गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष,रेडियो वाणी,उड़न तश्तरी,कुछ मेरी कलम से,वीर बहुटी,ज्ञान दर्पण,मेरी रचनाएँ,चाँद, बादल और शाम,KISHORE CHOUDHARY,सुबीर संवाद सेवा,स्पंदन,संवेदना संसार,प्राइमरी का मास्टर,स्वप्न मेरे," अर्श ",आरंभ,कुश की कलम,झरोखा ,अमृता प्रीतम की याद में.....,ज़ख्म…जो फूलों ने दिये,आदत.. मुस्कुराने की,मनोरमा,महाशक्ति,अलबेलाखत्री .कॉम ,कुमाउँनी चेली,शस्वरं,ज्योतिष की सार्थकता,मसि-कागद,हिंदीब्लॉगरोंकेजनमदिन,कवि योगेन्द्र मौदगिल,ललितडॉटकॉम,संवाद घर ,गठरी,उल्लास: मीनू खरे का ब्लॉग,क्वचिदन्यतोअपि,शब्द-शिखर,घुघूतीबासूती,संचिका,देशनामा,मेरी छोटी सी दुनिया,जज़्बात,बिखरे मोती,चाँद पुखराज का,अनामिका की सदायें,मनोज,मुझे कुछ कहना है,सच्चा शरणम ,दिशाएं,आनंद बक्षी,नारदमुनि जी,BlogsPundit by E-Guru Rajeev,ज़िंदगी के मेले,अलग सा ,बेचैन आत्मा,काव्य तरंग,मेरी दुनिया मेरे सपने,सरस पायस,नवगीत की पाठशाला,पिट्सबर्ग में एक भारतीय,काव्य तरंग,मुझे शिकायत हे,अदालत,काजल कुमार के कार्टून,अजित गुप्‍ता का कोना,हृदय गवाक्ष,आज जाने कि जिद न करो ,अंधड़,गीत मेरी अनुभूतियाँ,एक आलसी का चिठ्ठा,महावीर , रचना गौड़ ’भारती’ की रचनाएं,एक नीड़ ख्वाबों,ख्यालों और ख्वाहिशों का,कल्पनाओं का वृक्ष,ZEAL, मेरा सागर, कुछ एहसास 'सतरंगी यादों के इंद्रजाल,वटवृक्ष,परिकल्पना,मुसाफिर हूँ यारों,कुछ भी...कभी भी..,ज्ञानवाणी,आदित्य (Aaditya), लावण्यम्` ~अन्तर्मन्`,समयचक्र,मेरे विचार, मेरी कवितायें,पराया देश,मानसिक हलचल,"सच में!" आदि।
कुछ ब्लॉग जो सामूहिक लेखन से या संग्रहित सामग्री से चलते हैं और जिनके वर्ष-२०१० तक १००० से ज़्यादा प्रशंसक हो चुके हैं, उनमें प्रमुख हैं -भड़ास blog, इसके अलावा १००से ९९९ प्रशंसकों वाले सामूहिक/सामुदायिक ब्लॉग की सूची में स्थान बनाने में सफल रहे -रचनाकार,चिट्ठा चर्चा,नारी, नुक्कड़, TSALIIM,हिन्दीकुंज, Science Bloggers' Association, हिन्दुस्तान का दर्द, चर्चा मंच, माँ ! ,चोखेर बाली, क्रिएटिव मंच-Creative Manch, ब्लॉग 4 वार्ता, ब्लॉगोत्सव २०१०, लखनऊ ब्लोगर असोसिएशन,कथा चक्र,"हिन्दी भारत",चर्चा हिन्दी चिट्ठों की, मुहल्ला लाईव , कबाड़खाना आदि।
३१ दिसंबर तक के आंकड़ों के आधार पर Shobhna: The Mystery ९२ प्रशंसकों ,मा पलायनम ! ९५ प्रशंसकों ,THE SOUL OF MY POEMS ९५ प्रशंसकों ,आवाज़ ९६ प्रशंसकों,मानसी ९९ प्रशंसकों के साथ निकटतम स्थिति में रहे हैं ।




बड़ों की चर्चा के बाद आईये बच्चों की ओर उन्मुख होते हैं । बच्चों की बात ही निराली होती है। फिर बच्चों से जुड़े ब्लॉग भी तो निराले हैं। अब तो बाकायदा इनकी चर्चा प्रिंट-मीडिया में भी होने लगी है। ' हिंदुस्तान' अख़बार के दिल्ली संस्करण में १६ सितम्बर, २०१० को प्रकाशित भारत मल्होत्रा के लेख 'ब्लॉग की क्रिएटिव दुनिया' में बच्चों से जुड़े ब्लॉगों की इस वर्ष भरपूर चर्चा हुई है । अक्सर विश्लेषण के क्रम में बच्चों का ब्लॉग छूट जाता रहा है , किन्तु इस वर्ष पहली बार किसी नन्हे ब्लोगर (अक्षिता पाखी )को वर्ष का श्रेष्ठ नन्हा ब्लोगर घोषित किया गया और उनकी रचनात्मकता को जनमानस के समक्ष प्रस्तुत किया गया इसलिए आईये कुछ नन्हे ब्लोगरों के ब्लॉग पर नज़र डालते हैं ।

जब बड़ों के प्रशंसक इतने ज्यादा हैं तो बच्चे भला कैसे पीछे रह सकते हैं । १०० से ज्यादा प्रशंसकों के समूह में शामिल बाल ब्लॉग सूची में इस वर्ष केवल चार नन्हे ब्लोगर शामिल हुए इनके ब्लॉग है क्रमश: - पाखी , आदित्य ,सरस पायस और मेरी छोटी सी दुनिया......!



इस वर्ष के चर्चित नन्हे ब्लोगरों की सूची में शामिल रहे हैं जो ब्लॉग उनके नाम है- आदित्य, पाखी की दुनिया , नन्हे सुमन , बाल संसार , नन्हा मन , क्रिएटिव कोना , बाल दुनिया, बाल सजग, बाल मन , चुलबुली,नन्ही परी, मेरी छोटी सी दुनिया, माधव , अक्षयांशी, LITTLE FINGER , मैं शुभम सचदेव आदि ।


बच्चों के ब्लॉग को प्रमोट करने हेतु एक चर्चा मंच भी है जिसका नाम है बाल चर्चा मंच जो इन ब्लोग्स की निरंतर चर्चा करके उत्साह वर्द्धन का कार्य करता रहा पूरे वर्ष भर । इस ब्लॉग के ८४ प्रशंसक हैं ।


आज की चर्चा को विराम देने से पूर्व आपको एक ऐसे ब्लॉग से रूबरू कराने जा रहे हैं ,जों एक मंच है और समर्पित है भारत चर्चा को। भारत से सम्बन्धित किसी भी विषय पर आपके विचार चर्चा के लिये आमन्त्रित हैं। भारत विश्व की सर्वाधिक धनी और प्राचीन सभ्यता का स्थान है, जिसका अस्तित्व सदियो तक रहा है, तथा जिसके प्रमाण हमे आज भी मिलते हैं। प्राचीन भारत को विश्व ज्ञान गुरु कहा जाता है। गणित और विज्ञान की कई विधाओं की जन्म-स्थली है यह भूमि। इस मंच पर आप भारत के स्वर्णिम इतिहास के बारे मे अपने विचार रख सकते हैं। भारत तो अनगिनत विविधताओ से भरा देश है। इसे पूर्णतः जानना तो असंभव प्रतीत होता है, परन्तु यह एक प्रयास है और इस प्रयास मे अपना योगदान दीजिए।

.......जारी है विश्लेषण मिलते हैं एक विराम के बाद ....!

रवीन्द्र प्रभात

परिकल्पना ब्लॉग से साभार

1 टिप्पणी:

Anmol kumar ने कहा…

ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुंचाईये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
‘‘ आदत यही बनानी है ज्यादा से ज्यादा(ब्लागों) लोगों तक ट्प्पिणीया अपनी पहुचानी है।’’ हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।
हमारे ब्लॉग का पता निम्न है

anmolji.blogspot.com

हमारे ब्लॉग का उद्देश्य लोगोँ को जानकारी देना तथा लोगोँ के विचारोँ को अन्य लोगोँ तक पहुँचाना है।