बुधवार, 30 मार्च 2016

अफजल को शहीद घोषित करें तो मुख्यमंत्री

किसान सभा के महामंत्री सत्येन्द्र कुमार
बाराबंकी। अफजल गुरू की फांसी की चर्चा करे तो देशद्रोही और शहीद घोषित करें तो मुख्यमंत्री यह केन्द्र सरकार अच्छे दिन आने की नीति का परिणाम है।
    यह उद्गार व्यक्त करते हुए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सहसचिव रणधीर सिंह सुमन ने पवैय्याबाद में किसानों की सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि अच्छे दिनों के कारण देश के अन्दर एक लाख किसानों के किसान कर्ज के मकड़जाल में फंसकर आत्महत्यायें कर ली है वही सरकार कार्पोरेट  सेक्टर के लाखों करोड़ों रूपये की कर्ज माफी कर चुकी है किसान मौत के ऊपर राजनीति करके सैन्य राष्ट्रवाद को विकसित किया जा रहा है। किसान जब खेत और खलिहानों में अन्न उत्पादन कर रहा होता है और उसकी वहां मृत्यु होने पर नकली राष्ट्रवादियों के घडि़याली आंसू भी नहीं निकलते हैं।
    किसान जनसभा के संयोजक मुनेश्वर बख्श वर्मा ने कहा कि किसान सभा के नेतृत्व में पूर्व विधायक राजेन्द्र यादव 17 व 19 मई को बाराबंकी में जनजागरण अभियान प्रारम्भ करेंगे और नकली राष्ट्रवादियों के नकाब को जनता के सामने बेनकाब करेंगे।
    सभा को किसान सभा के महामंत्री सत्येन्द्र कुमार, राजेश सिंह आदि ने सम्बोधित किया। संचालन किसान सभा के अध्यक्ष विनय कुमार सिंह ने किया सभा के पूर्व रामू एण्ड कम्पनी के नकली राष्ट्रवादियों को बेनकाब करते हुए वाद यंत्रों के साथ गीत गाये।

कोई टिप्पणी नहीं: