बुधवार, 29 दिसंबर 2010

रंगभेदियों ने मंडेला को जेल भेजा था, सू की को तानाशाह ने और अब बिनायक सेन को दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र ने


रंगभेदियों ने मंडेला को जेल भेजा था, सू की को तानाशाहों ने और अब बिनायक सेन को दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र ने

1 टिप्पणी:

Dr. Amar Jyoti ने कहा…

कभी सोचा भी है ऐ नज़्मे कोहना के खुदावंदो
तुम्हारा हश्र क्या होगा जो ये आलम कभी बदला