रविवार, 8 जुलाई 2012

आतंक की राजनीति-मुस्लिम नौजवानों पर निशाना

देश की खुफिया एजेंसी द्वारा मुस्लिम नवजवानों का उत्पीडन गिरफ्तारियां पूरे देश में बढ़ रही हैंमुस्लिम नौजवानों को बिना किसी आरोप के पुलिस कस्टडी में कर लेती हैमारती पिट्टी है और टॉर्चर करती है और अंत में कई वर्षों के लिये जेलों में डाल दिया जाता हैबहुत से नौजवान कस्टडी में ही मर जाते हैं, अभी हाल ही में कतील सिद्दीकी नाम का व्यक्ति रहस्यमय परिस्तिथियों में यरवदा जेल पुणे में मार डाला जाता हैवह पिछले नवम्बर को गिरफ्तार किया गया था और जेल में मारा जाता था जो की अभी तक रहस्य बना हुआ है
फसीह मोहम्मद के बारे में अभी सब कुछ शांत है (घटना में शामिल था या नहीं) यह इंजिनियर सउदी अरब में उठा लिया जाता है उसके द्वारा घटना में शामिल होने के इनकार के बावजूद यू.पी. सरकार द्वारा कोई भी जिम्मेदारी भरा प्रयास नहीं किया गया कि उसके एक भारतीय नागरिक होने के कारण कुछ जरुरी कदम उठातीउसका परिवार न्याय के लिये इधर-उधर भटक रहा है
उर्दू पत्रकार सै. काजमी आतंक के आरोप में अब भी जेल में हैं जबकि अब भी उनके विरुद्ध पुलिस द्वारा आरोप पत्र दाखिल करना हैतारिक कासमी खालिद मुजाहिद को सोची समझी रणनीति के तहत कचहरी सीरियल बम विस्फोट में घरों से पकड़कर बाद में फर्जी बरामदगी दिखाई गयीप्रतापगढ़ के शौकत अली के विरुद्ध .टी.एस द्वारा साक्ष्य तैयार करने के उद्देश्य से फर्जी नाम से उसे लश्कर--तैयबा का एरिया कमांडर पत्र भेजकर नियुक्त किया गया और फिर उसे गिरफ्तार करने की तैयारी चल रही थी कि .टी.एस का भांडा फूट गया
ये सिर्फ बानगी भर है, अधिकृत रिपोर्ट बताती है कि कई मुस्लिम नौजवान भारतीय जेलों में कैद हैंमुस्लिम नागरिकों के साथ उत्पीडन यातनाएं बढ़ी है जहाँ अल्पसंख्यक अपने ही घर में सुरक्षित महसूस नहीं करता हैंजिस कारण अन्याय के विरुद्ध और आतंकी कौन है ? बताने के लिये एक संगठन बना कर मीटिंग करने का निर्णय लिया गया हैउक्त मीटिंग 9 जुलाई को कांस्टीट्यूशनल क्लब नई दिल्ली में होगी
मीटिंग में विभिन्न स्तरों पर एक त्वरित हल के लिये कार्ययोजना बनायीं जाएगी तथा "आतंक की राजनीति-मुस्लिम नौजवानों पर निशाना " गोष्ठी होगीगोष्ठी को श्री मुलायम सिंह यादव, श्री .बी बर्धन, श्री एच.डी. देवगौड़ा, श्री शरद यादव, श्री प्रकाश करात, श्री डी राजा, श्री गुरुदास गुप्ता, श्री मणिशंकर अय्यर, श्री हनुमन्त राव, श्री रामविलास पासवान समाज के वरिष्ठ प्रतिनिधि संबोधित करेंगे

कोई टिप्पणी नहीं: