सोमवार, 15 अगस्त 2016

किसान सब्सिडी देता है

बाराबंकी। किसानों को धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 5100 रूपये प्रति कुन्तल तथा गेहूँ का समर्थन मूल्य 7600 प्रति कुन्तल होना चाहिए। इसके विपरीत सरकार धान का 1470 रूपये तथा गेहूँ का 1525 रूपये तय करती है इन दोनों मूल्यों के अन्तर का रूपया किसान सब्सिडी के रूप में देता है जो प्रति छमाही लाखों लाख करोड़ो रूपये होता है।
अखिल भारतीय किसान सभा द्वारा विशुनपुर में आयोजित जन सभा को सम्बोधित करते हुए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सहसचिव रणधीर सिंह सुमन ने बताया कि औद्योगिक उत्पादन के मूल्य में अधिकतम खुदरा मूल्य प्रिन्ट किया जाता है और उसी पर किसान खरीदारी करता है।
जन सभा को किसान नेता विनोद कुमार यादव ने सम्बोधित करते हुए कहा कि किसानों को 60 वर्ष की आयु के बाद दस हजार रूपये की प्रति माह पेन्शन दी जानी चाहिए इसके लिए किसान सभा पूरे प्रदेश में संघर्ष करेंगी। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सह सचिव डाॅ0 कौसर हुसैन ने कहा कि किसान कर्जे को लेकर मोदी सरकार के बाद लाखों लोग आत्म हत्यायें कर चुके हैं और सरकार अनावश्यक मुद्दों को उठाकर जनता का ध्यान हटाने के अतिरिक्त और कुछ नहीं कर रही है।
जन सभा को रामू रावत, मुनेश्वर बक्श वर्मा, सभाजीत यादव, रामशंकर शर्मा आदि ने सम्बोधित किया और संचालन किसान सभा के जिलाध्यक्ष विनय कुमार सिंह ने किया।

1 टिप्पणी:

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगलवार (16-08-2016) को "एक गुलाम आजाद-एक आजाद गुलाम" (चर्चा अंक-2436) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
--
७० वें स्वतन्त्रता दिवस की
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'