शनिवार, 26 नवंबर 2016

कॉर्पोरेट सेक्टर से काला धन बरामद कराएं

तंजीम-ए-इन्साफ के महासचिव अमीक जामेई वा समाजवादी चिन्तक फ्रैंक हुजुर
बाराबंकी। मोदी की नोटबंदी नीति के कारण लाखों लोग बेरोजगार हो चुके हैं. खेती चैपट हो चुकी है, व्यापार ठप है. वहीँ, लाखों करोड़ रुपये की कर्ज माफी मोदी सरकार के नियंत्रक कॉर्पोरेट सेक्टर को दी जा चुकी है। सैकड़ों लोग विमुद्रीकरण के कारण मर चुके हैं। लगभग 50 लाख लोगों कि शादियाँ अधर में हैं. काले धन से पांच सौ करोड़ रुपये की शादी हो रही है। दूसरी तरफ आम जनता अपने ही रुपयों में से 2.5 लाख रुपये बैंक से निकालने में असमर्थ है।         
                       गाँधी भवन में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए तंजीम-ए-इन्साफ नई दिल्ली के महासचिव अमीक जामेई व समाजवादी चिन्तक फ्रैंक हुजूर ने कहा कि मोदी सरकार विमुद्रीकरण या नोटबंदी कार्यक्रम से यह प्रचारित किया जा रहा है है कि इससे आतंकवाद या माओवादियों को रुपये सप्लाई कार्य रुक जायेगा। यह बात भी मोदी सरकार की हवा हवाई है। यह बात उसी तरीके से है कि अमीर लोगों की नींद हराम हो चुकी है और काला धन बरामद किया जा रहा है। वास्तविकता यह है कि आम आदमी अपने ही रुपयों को निकालने के लिए तीन-तीन दिन तक बैंक की लइनों में लगा रहा है और खाने-पीने के लिए तंगी का सामना किया. इसके विपरीत पेट्रोल पंप मालिकों, बिग बाजार को फायदा पहुँचाया गया। सरकार यह बताने में पूर्णतया असमर्थ है कि कितना काला धन अभी तक वह बरामद कर पायी है। प्रधानमंत्री संसद का सामना करने से मुंह चुरा रहे हैं। अब तक 14 दिनों में मोदीजी ने किसी नेता के यहां छापा मारकर एक लाख के अमान्य नोट तक नहीं पकड़े हैं, आयकर विभाग ने 91 लाख के नोट महाराष्ट्र के भाजपा विधायक और मंत्री की कार से पकड़े हैं।
इनका नोट बंदी अभियान चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के संस्थापक तथा चीन के सबसे धनी व्यक्तियों में से एक जैक मा को लाभ पहुँचाना हैं। पेटीएम प्रचार अभियान उसी का हिस्सा है। एक तरफ चीन के खिलाफ युद्ध का माहौल बनाया जाता है और दूसरी तरफ चीन को फायदा पहुंचाने के लिए अप्रत्यक्ष रूप से मोदी सरकार द्वारा कार्य किया जा रहा है।
दोनों नेताओं ने कहा कि मोदी सरकार अगर वास्तव में भ्रष्टाचार को समाप्त करने तथा काला धन बरामद करना चाहती है तो  कॉर्पोरेट सेक्टर के यहाँ छापे डाले तथा बकायेदारों का कर्ज माफ करने के बजाये उनसे वसूली अभियान तेज करे।
तंजीम-ए-इन्साफ जनता कि मदद के लिए तथा देश को दिवालिया करने के खिलाफ मोदी सरकार कि नीतियों को आम जनता तक ले जाएगी. उसी कड़ी में यह संवाददाता सम्मलेन भी किया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं: