गुरुवार, 1 दिसंबर 2016

भक्तों का नोटों का कारोबार है

उत्तर प्रदेश विधान सभा के सामने किसान अपना आलू बांटते हुए   नोट बंदी के कारण कोई खरीददार नही है
8 नवम्बर को विमुद्रीकरण की घोषणा कि जाती है लेकिन सत्तारूढ़ दल के लोगों को पहले से ही मालूम था कि एक हज़ार वा पांच सौ के नोट सरकार बंद करने जा रही है जिसके चलते उन लोगों ने अपने हज़ार व पांच सौ के नोटों को सौ, पचास, बीस व दस के नोटों के रूप में परिवर्तित कर लिया था और घोषणा होने के बाद इन लोगों ने गाँव से लेकर शहर तक एक हज़ार रुपये की नोट 600 रुपये में व 500 की नोट 300 रुपये में खरीदने का काम ज़ारी कर दिया. आज उस कड़ी में भारतीय जनता पार्टी  का एक नेता 20 लाख रुपये की करेंसी के साथ पकड़ा गया है. तमिलनाडु के सेलम में भारतीय जनता पार्टी  नवजवान विंग के लीडर को पुलिस ने तब धर दबोचा जब वो बैंक से पैसे बदलने के बाद लौट रहा था. उसके पास से नए और पुराने दोनों नोटों का ज़खीरा मिला. नोटों के साथ गिरफ्तार  भारतीय जनता पार्टी  नवजवान विंग के लीडर का नाम जेवीआर अरुण है. इसी तरीके से "मोदी ने यह काम अच्छा किया" "काला धन आएगा विकास होगा" "थोडा सा कष्ट होगा लेकिन देश खुशहाल होगा" की बात करने वाले लोग वास्तव में नोटों कि खरीददारी का काम कर रहे हैं और जो पुराने नोट आ रहे हैं उनको बदलने कि व्यवस्था भी उन लोगों के पास है. नोट बंदी सत्तारूढ़ दल के छोटे-छोटे नेताओं के लिए नई रोशनी का काम कर रहा है. भारतीय जनता पार्टी ने पूरे देश के अन्दर नोट बंदी के फैसले के आने के पहले जगह-जगह जमीन खरीदी है. गाँव से लेकर शहर तक बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगाये गए हैं, एक-एक होर्डिंग की कीमत एक लाख से लेकर कई लाख रुपये तक है. ये  होर्डिंग्स 8 नवम्बर के बाद लगाए गए हैं. सत्तारूढ़ दल बता नहीं सकता है कि यह रुपये काला धन हैं या सफ़ेद धन हैं, इनका भुगतान पुरानी करेंसी में किया गया है या नई करेंसी में किया गया है. वहीँ, फाइनेंस मिनिस्ट्री ने घोषणा की है कि आयकर विभाग की सर्च के दौरान शादीशुदा महिलाएं पांच सौ ग्राम सोना रखने की हकदार होंगी। अविवाहित महिलाएं 250 ग्राम सोना रख सकेंगी। पुरुषों के लिए ये लिमिट 100 ग्राम की गई है। यह घोषणा भी कालाधन को सफ़ेद करने कि योजना का एक हिस्सा है. एक परिवार में अगर दस महिलाएं हैं तो पांच किलो सोना. कुछ अविवाहित लड़कियां व पुरुष भी परिवार में हैं तो बीसों किलो सोना रखा जा सकता है. यह घोषणा उन लोगों के लिए फायदेमंद है जिन्होंने 8 नवम्बर के बाद भारी पैमाने पर सोने की खरीद की मोदी सरकार इस तरह काले धन वालों को संरक्षण दे रही है.
वहीँ, दूसरी तरफ रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के गवर्नर साहब कि पूर्व पत्नी विभा जोशी के खिलाफ काला धन छिपाने के मामले में गिरफ्तारी वारंट ज़ारी किया गया है और पति उर्जित पटेल काला धन समाप्त करेंगे और ससुराल वाले काला धन पैदा करेंगे इस तरह की योजनाओं को मोदी योजना कहा जा सकता है.
                    सरकार ने 15 दिसम्बर तक पेट्रोल पम्प पर चलने वाले पांच सौ के नोटों का चलन बीच में स्थगित कर 2 दिसम्बर कर दिया है. इसका सीधा-सीधा अर्थ है कि आवश्यकता पड़ने पर आप अपने नोटों को कम दामों पर बेच कर अपनी आवश्यकता कि पूर्ती करें क्यूंकि बैंकों को आदेश है कि एक सप्ताह में चौबीस हज़ार रुपये से ज्यादा की निकासी न करें. भक्तों के नोटों के व्यापार को इस फैसले के बाद नई उर्जा नई दिशा मिलेगी और सत्तारूढ़ दल कि बड़ी-बड़ी होर्डिंग्स गाँवों-कस्बों में लगेंगी. देश बदल रहा है.

सुमन
लो क सं घ र्ष !

1 टिप्पणी:

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि- आपकी इस प्रविष्टि के लिंक की चर्चा आज शनिवार (03-12-2016) के चर्चा मंच

"करने मलाल निकले" (चर्चा अंक-2545)

पर भी होगी!
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'