शुक्रवार, 1 जनवरी 2021

अडानी-अम्बानी के मोह के कारण मोदी सरकार किसानों की मांग को नहीं मान रही है

 बाराबंकी। इस शीत लहर में खुली सड़क पर लाखों किसान बैठे हैं, लेकिन अडानी-अम्बानी के मोह के कारण मोदी सरकार किसानों की मांग को नहीं मान  रही है, यह बात आॅल इण्डिया किसान सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष रणधीर सिंह सुमन ने ककरहिया गांव में किसान आन्दोलन में शहीद किसानों की श्रद्धांजलि सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकार आम जनता की नहीं है बल्कि अडानी और अम्बानी की सरकार है। किसान सभा के जिलाध्यक्ष विनय कुमार सिंह ने कहा कि किसान शक्ति के आगे सरकार को झुकना होगा अन्यथा मोदी सरकार के लिए किसान आन्दोलन उनकी विदाई का आन्दोलन होगा। जिला उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार ने कहा कि प्रदेश सरकार किसान नेताओं के ऊपर फर्जी मुकदमें कायम कर रही है। जनपद में भी हम लोगों के ऊ मुकदमें कायम किये गये हैं, लेकिन हम लोग डरने वाले नहीं हैं। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सचिव बृजमोहन वर्मा ने कहा कि हमारी पार्टी किसानों के साथ है, और आन्दोलन में हमेशा सक्रिय रहेगी, पार्टी के जिला सह सचिव शिव दर्शन वर्मा ने कहा कि जनपद में किसानों का धान आठ-नौ सौ रूपये प्रति कुन्टल बिक रहा है और सरकार धान खरीद का नाटक कर रही है। सभा का आयोजन आॅल इण्डिया स्टूडेंट्स फेडरेशन के जिलाध्यक्ष महेन्द्र यादव ने किया था। जनसभा में मुनेश्वर बक्स, श्याम सिंह, अंकुल वर्मा, राम नरेश माती, गिरीश चन्द्र, विष्णु त्रिपाठी, डाॅ0 अलाउद्दीन, यशवंत सिंह आदि प्रमुख किसान नेता मौजूद थे।



1 टिप्पणी:

Unknown ने कहा…

Thanks for your blog