शुक्रवार, 26 फ़रवरी 2010

जेहाद का अभिप्राय

"जेहाद का अभिप्राय इस्लामी आतंकवादी संगठनों द्वारा भारत राष्ट्र के विरूद्ध इस राष्ट्र के नौजवानों को गुमराह कर भारत में आतंकवादी उपायों द्वारा इस्लामिक राष्ट्र की स्थापना करना है। "

यह कथन उत्तर प्रदेश के एस.टी.ऍफ़ के पुलिस उपाध्यक्ष श्री चिरंजीव नाथ सिन्हा का है। यह कथन उनका व्यक्तिगत नहीं है अपितु उत्तर प्रदेश की सरकार की सोंच का प्रतीक है और इसी आधार पर उत्तर प्रदेश में विभिन्न वादों की विवेचना की जा रही है । श्री सिन्हा का यह कथन न्यायलय में सशपथ बयान के रूप में दर्ज हुआ है।

सुमन
loksangharsha.blogspot.com

2 टिप्‍पणियां:

शरद कोकास ने कहा…

सत्ता के नुमाइन्दे सत्ता की भाषा ही बोलेंगे ना !!

ज्योति सिंह ने कहा…

sharad ji kya khoob kah gaye main bhi unke vichar se sahmat hoon ,umda