गुरुवार, 2 जून 2011

बृजलाल: तुम्हारी कानून व्यवस्था में मंत्री से भी घूस दिलाने के लिये कहा जाता है

उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त रखने के लिये पुलिस महानिदेशक पद पर वरिष्ठ आई.पी.एस अधिकारी बृजलाल तैनात हैं और प्रत्येक मामले में उनके अखबारी दावे प्रकाशित होते रहते हैं प्रदेश में इस समय कानून व्यवस्था की सबसे बदतर स्तिथि है पुलिस अभी तक पीड़ित व्यक्तियों से और मोटर वाहनों से वसूली के लिये प्रसिद्द थी अब वह समय गया है कि सिपाही मंत्री से कहता है कि खर्चा पानी दिला दीजिये
बाराबंकी जनपद में सफदरगंज थाने के औलिया लालपुर के निवासी खादरापुर के सदस्य क्षेत्र पंचायत सुनील कुमार के कुछ पेड़ आंधी तूफ़ान में गिर गए थे कीमती लकड़ियाँ वह कटवा रहे थे कि थाना सफदरगंज के सिपाही योगेन्द्र सिंह मौके पर पहुंचा और सुनील को धमकाते हुए खर्चा पानी की मांग की इससे पहले यही सिपाही सुनील से दो कुंतल लकड़ी धमका कर ले जा चुका था पुलिस की इस कारगुजारी से अजीज होकर सुनील ने प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री डॉ संग्राम सिंह को मोबाइल मिलाया और घटना की जानकारी दी मंत्री ने सिपाही को मोबाइल देने के लिये कहा जिस पर सिपाही ने मोबाइल पर बात करते हुए मंत्री से कहा खर्चा पानी दिला दो और कोई बात नहीं होगी इस बात की शिकायत मंत्री ने पुलिस अधीक्षक बाराबंकी से की जिस पर उक्त सिपाही को निलंबित कर दिया गया और घटना की जांच सी सादर को सौंपी गयी
प्रदेश में पुलिस विभाग ने जनता से धन वसूली के लिये विभिन्न मद बना रखे हैं और बगैर धन दिए कोई कार्य नहीं हो सकता है कानून का उपयोग उच्च पुलिस अधिकारियो के जानकारी में होते हुए भी धन वसूली के लिये ही किया जाता है कानून का उपयोग कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये नहीं है अपितु जनता से धन वसूली के लिये है सरकार जितना टैक्स जनता से लिखा पढ़ी में वसूलती है उससे कहीं कई गुना की धन वसूली पुलिस विभाग करता है और जब पुलिस विभाग की यह स्तिथि है तो प्रदेश में क्या हो रहा होगा

सुमन
लो क सं घ र्ष !

1 टिप्पणी:

Vijai Mathur ने कहा…

मंत्री जी को यकीन तो हो गया कितनी अच्छी व्यवस्था उनके राज में है.