रविवार, 27 जनवरी 2013

केन्द्र सरकार गैर अवामी सरकार


इंसाफ  सम्मलेन का उद्घाटन करते हुए पूर्व सांसद अजीज पाशा 
बाराबंकी। केन्द्र सरकार गैर अवामी सरकार है। अक्लियतों की समस्याओं का निदान करने के लिए पंचवर्षीय योजनाओं में पर्याप्त बजट की व्यवस्था नहीं करती है और उसके अधिकारीगण उस बजट को इस्तेमाल नहीं करते हैं और लगभग 60 फीसदी बजट बिना खर्च किए वापस हो जाता है। यह बात आल इण्डिया तन्जीम ए इंसाफ के राष्ट्रीय संयोजक व पूर्व सांसद अजीज पाशा ने कहा कि बारहवीं पंच वर्षीय योजना में 58 हजार करोड़ रूपये अल्पसंख्यकों के कल्याण करने के लिए बात से बजट में प्राविधान करने के लिए बात हुई थी लेकिन मनमोहन सरकार ने मात्र 17 हजार करोड़ रूपये का प्राविधान किया और जिसमें 60 फीसदी बजट लैप्स हो गया।
    प्रदेश की स्थिति पर चिंता प्रकट करते हुए करते हुए श्री पाशा ने कहा कि अखिलेश सरकार में करीब ग्यारह दंगें हो चुके हैं और निर्दाेष मुस्लिम नवजवानों को आज तक छोड़ा नहीं गया है।
    सम्मेलन को इंसाफ के प्रदेश संयोजक व पूर्व विधायक इम्तियाज अहमद ने सम्बोधित करते हुए कहा कि हैण्डलूम उद्योग से लेकर समस्त दस्तकारी के कार्य धन्धों को प्रदेश सरकार की गलत नीतियों के कारण जबरदस्त घाटा हुआ है और छोटे उद्योग धन्धे बन्द हो गये हैं।
    दिल्ली प्रदेश के इंसाफ के अध्यक्ष डा0 ए0ए0खान ने कहा कि सच्चर कमीश्न की रिपोर्ट केन्द्र सरकार लागू नहीं कर रही है और उत्तर प्रदेश की सरकार आर0डी0 निमेष कमीशन के आधार पर बेगुनाह मुस्लिम नवजवानों को रिहा नहीं कर रही है। अक्लियतों के मामलें में केन्द्र व उत्तर प्रदेश सरकार एक जैसे हैं इसलिए जरूरी है कि अक्लियत संगठित होकर संघर्ष के मैदान में उतरे।
   
अमीक जामेई इंसाफ सम्मलेन को संबोधित करते हुए 
इम्तियाज़ अहमद पूर्व विधायक, इंसाफ सम्मलेन को संबोधित करते हुए 
सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए मुहम्मद शुऐब एडवोकेट ने कहा कि पिछड़े व गरीब मुसलमानों को आरक्षण की सुविधा दी जाय। इंटलीजेन्स ब्यूरो हिन्दुत्वादी संगठन आर0एस0एस0 जैसे संगठनों के दिशा निर्देशों पर कार्य कर रहा है।
अमीक जामेई, गिरीश शर्मा, डॉ ए ए  खान, इम्तियाज़ अहमद, मुहम्मद शुऐब अधिवक्ता इंसाफ  के मंच पर अजीज पाशा पूर्व सांसद संबोधित करते हुए 
रणधीर सिंह सुमन एडवोकेट इंसाफ सम्मलेन को संबोधित करते हुए 

    सम्मेलन को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव गिरीश ने सम्बोधित करते हुए कहा कि कम्युनिस्ट पार्टी शोषित पिछड़े गरीबों की पार्टी है। लेकिन पिछड़े मुसलमानों को आगे बढ़ाने के लिए एक कार्यक्रम चलाया जिसे हम ‘इंसाफ’ के नाम से जानते हैं। जिन्होंने इन समस्याओं को जाना है जब तक सुरसा जैसे समस्याओं का बध नहीं होता है तब तक समाधान नहीं हो सकता है।
    सम्मेलन को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के प्रदेश नेता अरविन्द राजस्वरूप, इंसाफ दिल्ली के अमीक जामेई, एहतशाम मिर्जा, जैनुल कदर, मो0 तारिक खान, रणधीर सिंह सुमन ने भी सम्बोधित किया। सम्मेलन में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के  डा0 उमेश वर्मा, बृज मोहन वर्मा, विपत राम, कौसर हुसैन, नीरज वर्मा, पुष्पेन्द्र कुमार सिंह, राम नरेश, विनय सिंह, अमर सिंह, आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: