शुक्रवार, 29 मार्च 2013

फांसी

दे दी गयी फांसी 
आतंक के गुरु अफजल को 
चारो तरफ से की गयी प्रशंसा 
केन्द्रीय सरकार की लोगो ने कहा 
हिम्मत दिखाई सरकार ने 
हम भी देते हैं बधाई 
ऐसे आतंकी को फांसी दिए जाने की 
लेकिन 
सरकार से करते हैं अपील 
अभी और आतंकियों की ओर निगाहें डालने की 
जो कभी नही उठाते बंदूख कभी नही फोड़ते बम 
न ही उनकी मार से 
चीथड़े-चीथड़े होता है मानव शरीर 
लेकिन 
वे मौत देते हैं 
इन आतंकियों से हजारो गुना अधिक 
जिनकी ओर 
कभी नही उठती निगाहें 
मेरे देश की सरकारों की न ही मेरे देश की जनता की 
इन आतंकियों को मिलता है हर जगह मान-सम्मान
होते है सुरक्षा के चुस्त-दुरुस्त इंतजाम 
ये आतंकी कोई और नही हैं
ये हैं हमारे द्वारा बैठाये 
हमारी ही सरकारों में बैठे हैं ऊँचे ओहदे के लोग 
जिनके कारण 
पूरे देश में जड़ जमाये बैठा है 
आर्थिक आतंकवाद 
जिसके कारण मरते हैं नित्य
हजारों लोग बिना रोटी के
बिना दवा के  
जाड़े की ठिठुरन में 
गर्मी के लुवार में बरसात की बाढ़ में 
कभी रौंदा दिए जाते हैं 
सिक्के उछल के 
हरिद्वार एवं प्रयाग में 
ऐसे  आतंकियों को भी 
मेरे देश में 
मिलेगी 
कभी सजा 
फांसी की 

डॉ राम चन्द्र ' सरस '
मो- 09451093745


कोई टिप्पणी नहीं: