रविवार, 8 मई 2016

किसान देश का वास्तविक मालिक है

                                                                                                                                                                            बाराबंकी। किसान देश का वास्तविक मालिक है और सच्चा राष्ट्रवादी उसी को कहा जाना चाहिए। जो हुकुमते किसानों की हित की बात करे वहीं देश भक्त कहलाने के लायक है और जो उनके लिए कुचक रचे वो देश द्रोही है।
अखिल भारतीय किसान सभा द्वारा रविवार को गांधी भवन के सभागार में ‘किसान और राष्ट्रवाद’ विषयक गोष्ठी पर अपने सम्बोधन में उक्त विचार सुप्रसिद्ध मजदूर नेता रामकृष्ण ने रखे। उन्होने कहा कि इस देश की विडम्बना यह है कि अल्पसख्यक पंूजीपति बहुसंख्यक जनमानस का शोषण दोहन करके राज कर रहे है। सरकार चाहे कांग्रेस की हो या भाजपा की हो नीतियां उद्योगपतियों को लाभान्वित करने तथा किसानों का दर्द बढाने के लिए बनायी जाती है। उन्होंने कहा कि कम्पनी एक्ट व इन्कम टैक्स एक्ट में बदलाव की जरूरत है क्योंकि इनमें दोहरी कानूनी व्यवस्था है। मजदूर लीडर ने कहा कि एक लाख चैदह हजार रूपये केन्द्र की मौजूदा सरकार अपने मित्र उद्योगपतियों के कर्जों को माफ कर उन्हें तोहफा देने में जरा भी शर्म नहीं करती है जबकि किसान व मेहनतकश लोगों को लोन देने में तरह तरह की बाधायें उत्पन्न करती है और ब्याज भी अधिक लेती है इसके साथ साथ वसूली में भी कोई रियायत भी सरकार नहीं करती है।
    उन्होंने कहा कि आज राज्य व राष्ट्र के बीच में केन्द्र सरकार जो भ्रम फैला रही है वो मक्कारी का कार्य है। आज उन लोगों को राष्ट्रवाद की जरूरत है। जिन्होंने राष्ट्रपिता व सिद्धान्तों की हत्या की है। उन्होंने कहा कि राष्ट्र एक अवधारणा है अमूर्त और जन संघर्ष ने इसे मूर्त रूप प्रदान किया है और इस जनसंघर्ष का प्रारम्भ 1857 में मौलवी अहमद उल्ला शाह द्वारा प्रतिपादित एजण्डे से हुआ। इस जनसंघर्ष में लगभग एक करोड लोग हताहत हुये। जिसमें 20 लाख मौलवी मुल्ला थे। राष्ट्रवाद के नाम पर देश में दूसरी बार एकजुटता 1942 में गांधी जी के नेतृत्व में देशवासियों को पुनः उत्पन्न हुई।
    उ0प्र0 अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष व पूर्व एमएलसी गयासुद्दीन किदवई ने कहा कि आज देश में दो तरह के किसान पाये जाते है एक वह जो खेतोें में अपना पसीना बहाकर दो वक्त की रोटी अपने परिवार के लिए जुटाते है, दूसरे वो सरमाएदार जो अपने काले धन को सफेद करने के उद्देश्य से काश्तकार बन रहे है। ऐसे लोगों के विरूद्ध जनता को जनआन्दोलन चलाना चाहिए। उन्होंने देश की वर्तमान राजनीति परिस्थितियों पर टिप्पणी करते हुये कहा कि चतुर राजनेता जनता को धर्मजाति के मुद््दों पर ले जाकर उनके अंदर राजनीतिक परिपक्वता पनपने नहीं देते।
    रिहाई मंच के अध्या मो0 शुऐब एडवोकेट ने अपने विचार रखते हुए कहा कि आज देश में राष्ट्रवाद शब्द का दुप्र्रयोग किया जा रहा है। देश में बसने वाले अल्पसंख्यकों जिनके पूर्वजों ने आजादी की लड़ाई में कुरबानियां दी उनसे राष्ट्रवादिता की सनद वो लोग मांग रहे है जिनकी स्वतन्त्रता संग्राम में कोई भी भूमिका होने की दूर की बात बल्कि अंग्रेज शासकों के साथ सहानुभूति में रहीं।
गोष्ठी की अध्यक्षता कर रहे जिला बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष बृजेश कुमार दीक्षित ने कहा कि आर0एस0एस0 ने बड़ी होशियारी से पूरे देश में नफरत का माहौल तैयार कर दिया है और तथाकथित देश भक्ति व राष्ट्र प्रेम के नाम पर ऐसे-ऐसे मुद्दे उठाये जा रहे है जो देश की परम्परागत  सामाजिक व धार्मिक समरसता व उसकी अखण्डता के वजूद के लिए खतरा है।
    गोष्ठी को उपभोक्ता फोरम के पूर्व सदस्य हुमायू नईम खां, बृजमोहन वर्मा, रणधीर सिंह सुमन, मौलाना व डा0 तस्खीर उल हसन, ने सम्बोधित किया तथा संचालन पत्रकार तारिक खान ने किया।
    कार्यक्रम में पुष्पेन्द्र कुमार सिंह, नीरज वर्मा, विनय कुमार सिंह, राम नरेश, गिरीश चन्द्र, मो0 कदीर, इमतियाज अली, अमर सिंह आदि उपस्थित थे।



7 टिप्‍पणियां:

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगलवार (10-05-2016) को "किसान देश का वास्तविक मालिक है" (चर्चा अंक-2338) पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
--
मातृदिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

sunita agarwal ने कहा…

vicharniy report

बेनामी ने कहा…

इस भागती हुई इन्टरनेट की दूनिया में हर कोई दूनिया के साथ चलना चाहता है किन्तु बहुत से ऐसे भी लोग है जो जानकारी के अभाव में दूनिया के साथ कदम से कदम मिला कर नहीं चल पाते और जल्द ही हार मान लेते है। हमारी यही कोशिश है कि अब कोई भी इस इन्टरनेट के जमाने में दूनिया की हर जानकारी से वंचित ना हो। ये लेख हम रोज देश-विदेशों में घट रही घटनाओं की जानकारी से संबंधित दे रहें हैं। पाठकों को देश-विदेश के हर कोने की जानकारी इस लेख के माध्यम से पहुंचाना ही हमारा उद्देश्य है। इस लेख को लिखने का उद्देश्य ही ये है कि दुनिया की कोई भी जानकारी अब पाठकों से दूर ना रहें। हमारी ये ही कोशिश है कि पाठकों को दूनिया की हर वो जानकारी हो जो उनके शहर, देश या उनकी इस दूनिया में हो रही है। आप इस लेख में देश-विदेश में घटित हो रही हर जानकारी पा सकेगें। इस इन्टरनेट के जमाने में आजकल हर कोई इन्टरनेट के माध्यम से हर जानकारी पा सकता है। इस कारण हमारी भी यही कोशिश है कि हम पाठकों को देश-विदेश में घटित हो रही हर वो जानकारी इस साइट के माध्यम से पहुंचा सके। हम इस लेख में पाठकों के लिए ला रहें हैं दूनिया में घटित हो रही हर घटना से संबंधित जानकारी जो पाठक तक सही समय में नहीं पहुंच पाती। आजकल इन्टरनेट में बुजुर्ग से लेकर वयस्क तक, अध्यापक से लेकर छात्र तक सब जुड़ा है। इसी को देखकर हर वो जानकारी जो आप लोगों के काम आ सके हम इस लेख के माध्यम से आप तक पहुंचा रहे हैं।
इस लेख में राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय, एजुकेशन, जाॅब, देश-विदेश में हो रही हर एक घटना की ताजा खबर से संबंधित जानकारी प्राप्त करायी जायेगी। लेख में राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय संबंधित जानकारी, आर्थिकव्यवस्था के बारे में देश-विदेश की खबर खेल से संबंधित जानकारी आदि जानकारी इस में आपको देने की कोशिश है। छात्र-छात्राओं को इसमें देश-विदेश में हो रही घटनाओं की जानकारी, सामान्य ज्ञान आदि जानकारी मिलेगी जो उनकी पढ़ाई में बहुत फायदेमंद हो सकती है। खेल-प्रमियों के लिए देश-विदेश में हो रहें खेल से संबंधित हर जानकारी उपलब्ध होगी जिससे उन्हें खेल के बारे में रोज जानकारी मिलती रहेगी। देश में बहुत से युवा है योग्य होकर भी जो बेरोजगार हैं क्योंकि जानकारी के अभाव में उन्हें सही समय में सही जानकारी नहीं मिल पाती और वो नौकरी के लिए एप्लाई नहीं कर पाते। हमारी यही कोशिश है कि पाठकों को सही समय में सही जानकारी हर समय मिलती रहे। इस लिए हम ये लेख आपके लिए लाए है जिससे आप देश-विदेश में हो रही हर घटनाओं की जानकारी सही समय में पा सकें। आप रो इस लेख को विजिट करें और रोज पायें देश-विदेश के हर कोने की ताजा और सही जानकारी।
अगर पाठक चाहतें हैं या पाठकों को लगता है कि हमें लेख में जानकारी से संबंधित और भी जानकारी आप लोगों तक पहुंचानी चाहिए तो आप साइट के संदेश बाॅक्स में हमें संदेश कर सकते हैं, हम आपकी पूरी मदद करने की कोशिश करेगें। हम अपनी ओर से पूरी यही कोशिश करते हैं कि आपके पास हर एक क्षेत्र की हर एक जानकारी सही और सही समय में हो। पाठकों को अगर साइट में कोई और जानकारी चाहिए या कोई जानकारी गलत लगती हो तो पाठक संदेश बाॅक्स में हमें अपना संदेश दे सकते हैं, आपकी पूरी कोशिश की जायेगी।
हमारी यही कोशिश है कि पाठकों को हर समय देश-विदेश की जानकारी सही तरीके और सही समय में मिलती रहे। आप जानकारी के लिए साइट पर रोज बनें रहें और अगर लेख में पाठकों को लगता है कि कोई जानकारी गलत या कोई अतिरिक्त जानकारी चाहते है तो हमें संदेश बाॅक्स में संदेश करें। ताजा खबरों के लिए साइट पर रोज बनें रहें।

Jack ने कहा…

All Gov. Jobs Recuriment

Latest Government Jobs ने कहा…

Latest Government Jobs

Nitin Pokhriyal ने कहा…

Thank you for Giving Informations in This Article.
Indian Army Books
Indian Army Sample Paper
Books for SBI PO
Indian Army Eligibility

VIVO IPL 2017 Astrology
IPL 10 All Match Predictions

Uttarakhand News In Hindi Language
Latest Bollywood News In Hindi

Web Development Company in Dehradun

Ankit Chandwada ने कहा…

Look at Heart Break Sad Status