गुरुवार, 8 सितंबर 2016

इंद्र-इन्द्राशन और हिन्दुवत्व गिरोह पकड़ा गया- मोदी आर्मी ब्रिगेड का टीनू जैन

हिंदुवत्व का राज स्थापित करने वाले लोग इंद्र और इंद्राशन और मेनका को भूल जाए तो असली देशभक्ति, राष्ट्रवाद, हिन्दुवत्व सब बेकार हो जायेग.मोदी ब्रिगेड का सरगना टीनू जैन मध्य प्रदेश में नागालैंड की लड़की के साथ आपत्तिजनक अवस्था में गिरफ्तार किया गया है. अपुष्ट शुत्रों से यह भी पता चल रहा है कि यह सत्तारूढ़ दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित जैन शाह का रिश्तेदार भी है इस नाते प्रधानमंत्री मोदी साहब के अत्यधिक नजदीक था और संबंधों की आड़ में वह सेक्स रैकेट का संचालन कर रहा था. भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के साथ भी उसकी फोटूवें सोशल मीडिया पर थी. 
                आये दिन नागपुर मुख्यालय को इस तरह के मामले देखने पड़ते हैं. भारतीय जनसंघ के सफ़र से लेकर भाजपा तक के सफ़र में सेक्स रैकेट संचालकों का भी बड़ा योगदान रहा है. जनसंघ के संस्थापकों में से एक बलराज मधोक ने भी अपनी आत्मकथा "जिंदगी का सफर-भाग 3" के पेज न. 25 पर लिखा है-".....मुझे अटल बिहारी और नाना देशमुख की चारित्रिक दुर्बलताओं का ज्ञान हो चुका था। जगदीश प्रसाद माथुर ने मुझसे शिकायत की थी की अटल (बिहारी वाजपेयी) ने 30, राजेंद्र प्रसाद रोड को व्यभिचार का अड्डा बना दिया है। वहाँ नित्य नई-नई लड़कियाँ आती हैं। अब सर से पानी गुजरने लगा है। जनसंघ के वरिष्ठ नेता के नाते मैंने इस बात को नोटिस में लाने की हिम्मत की। मुझे अटल के चरित्र के विषय में कुछ जानकारी थी। पर बात इतनी बिगड़ चुकी है, ये मैं नहीं मानता था। मैंने अटल को अपने निवास पर बुलाया और बंद कमरे में उससे जगदीश माथुर द्वारा कही गई बातों के विषय में पूछा। उसने जो सफाई दी बात साफ़ हो गई। तब मैंने अटल (बिहारी वाजपेयी ) को सुझाव दिया कि वह विवाह कर ले अन्यथा वह बदनाम तो होगा ही, जनसंघ की छवि को भी धक्का लगेगा।....."
इंद्र-इन्द्रशन और हिन्दुवत्व गिरोह मेनकाओं के बगैर नहीं रह सकता है. यह भारतीय समाज में जितनी कुरीतियाँ हैं या बुरे कर्म हैं जिनकी संघ हमेशा निंदा करता रहता है.  वही उसके आचरण में परिलक्षित होती हैं. 
वहीँ, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के इंदिरापुरम इलाके में स्विफ्ट कार में सवार ड्राइवर ने (नंबर- HR26 AR 9662) बेरिकेडिंग को तोड़कर भागने का प्रयास किया. इसके बाद संदेह होने पर पुलिस ने कार रोककर तलाशी ली तो उसमें से तीन करोड़ रुपए मिले.
इसके बाद पुलिस ने कार में मौजूद अनूप कुमार अग्रवाल और सिद्धार्थ शुक्ला को हिरासत में लिया और उनसे पूछताछ शुरू कर दी.यह दोनों लोग भारतीय जनता पार्टी के लिए उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए काला धन ला रहे थे. 
यह सब संघ के चरित्रवान लोग हैं एक पुरानी कविता है
कुछ काजल क्रूर कुकर्म पथी, सुजला सुफला में नहाने गए. 
अपना दिल दामन धो न सके, पर दिल्ली में गंगा बहाने चले.

 सुमन 

2 टिप्‍पणियां:

poet kavi ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (10-09-2016) को "शाब्दिक हिंसा मत करो " (चर्चा अंक-2461) पर भी होगी।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

राष्ट्रीय चरित्र ।