मंगलवार, 30 अक्तूबर 2018

पूर्व विधायक की स्मृति सभा का हुआ आयोजन


स्वः गजेन्द्र सिंह जो वादा करते उसे पूरा करते थे: फरीद महफूज किदवई

राजनीतिक युग में जनता के सर्व सुलभ राजनेता थे: फवाद किदवई
पूर्व मंत्री बोलते हुए 

बाराबंकी। वर्तमान समय में अब देश में ऐसी सरकारें सत्तारूढ है। जो अपने अल्पसंख्या में रहने वाले नागरिकों के दमन करने पे उतारू है। उनकी यह संविधान विरोधी हरकते देश की एकता और अखण्डता के लिए खतरा है। उक्त विचार स्व0 दादा गजेन्द्र सिंह की स्मृति सभा में पूर्व मंत्री फरीद महफूज किदवई ने व्यक्त किये। पूर्व मंत्री ने स्मृति सभा को संबोधित करते हुए कहा कि स्वः गजेन्द्र सिंह जो वादा करते थे। उसको पूरा करते थे। अब यह बात वर्तमान राजनीतिज्ञो में नहीं है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी महासचिव फवाद किदवई ने कहा दादा गजेन्द्र सिंह अपने राजनीतिक युग में जनता के सर्व सुलभ राजनेता थे। वह कर्तव्यनिष्ठ व ईमानदार थे। प्रदेश सरकार में मंत्री प्राप्त दर्जा व पूर्व विधायक परमात्मा सिंह ने कहा कि दादा के साथ हम भी विधायक थे और वे विधानसभा में अपनी बातों को प्रभावशाली तरीके से रखते थे। संजय सेतु के निर्माण की मंजूरी उन्हीं के अथक प्रयासों से हुई थी। इसके अतिरिक्त सभा को पत्रकार तारिक खान, सिटी इण्टर कालेज प्रधानाचार्य विजय प्रताप सिंह, प्रशान्त कुमार मिश्रा, नवीन सेठ, वसीम राईन, बृजमोहन वर्मा, बार पूर्व अध्यक्ष सुरेन्द्र प्रताप सिंह बब्बन, सेल्स ट्रेक्स बार अध्यक्ष पवन वैश्य, हुमाँयू नईम खान, उपेन्द्र सिंह, अनवर जमाल, महंत बी0पी0 दास, राजेश सिंह आदि लोगों ने भी संबोधित किया। सभा का संचालन अधिवक्ता विभव मिश्रा व अध्यक्षता बृजेश कुमार दीक्षित ने की। 
श्री फवाद किदवई मल्यांपर्ण करते हुए 
                   स्मृति सभा में वरिष्ठ अधिवक्ता रणधीर सिंह सुमन, अजय गुरू, श्याम सुन्दर दीक्षित, विनय दास, विनय कुमार सिंह, शिव दर्शन वर्मा, मो0 कदीर, एहशान बेग, जैनुल कदर, विजय प्रताप सिंह, निर्मल वर्मा, पुष्पेन्द्र सिंह, विनोद कुमार यादव, गिरीश, राजेन्द्र सिंह, कर्मवीर सिंह, भूपिंदर पाल सिंह, प्रवीन कुमार, महेन्द्र यादव, डा0 कौशर हुसैन, रईस अहमद, कादरी, आनन्द सिंह, अमर प्रताप सिंह, पूर्णांशु सिंह, नीरज वर्मा, कमल सिंह चन्देल, कलीम किदवई, अख्तर पत्रकार अवधेश आदि मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: