रविवार, 17 फ़रवरी 2013

अरब जगत का इत्र भी मोदी दाग नहीं मिटा सकता

प्रेस परिषद के अध्यक्ष जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने लिखा, सविंधान के मुताबिक भारत केवल हिंदुओं का देश नहीं है। यह समान तौर पर मुस्लिमों, सिख, ईसाइयों, पारसियों, जैनियों का भी देश है। और इस देश में हिंदू फर्स्ट रेट सिटिजन और दूसरे समुदाय के लोग सेकेंड या थर्ड रेट सिटिजन नहीं हो सकते हैं। सभी नागरिक एक समना हैं। गुजरात में मुस्लिमों की हत्याएं और दूसरे ज्यादतियां न तो भुलाई जा सकती हैं और न ही इन्हें माफ किया जा सकता है। पूरे अरब जगत का इत्र भी मोदी का इन हत्याओं से कनेक्शन के दागों को नहीं मिटा सकता है।

देश का एक बड़ा हिस्सा नरेंद्र मोदी को देश के अगले पीएम के तौर पर देखना चाहता है। उन्हें लगता है कि मोदी हताश और निराश देश में दूध और शहद की नदियां बहा देंगे। यह आवाज बीजेपी, आरएसएस के बीच से ही नहीं कुंभ मेले से भी आ रही हैं। इसमें देश के तथाकथित पढ़े-लिखे नौजवान भी शामिल हैं जो मोदी के इस प्रोपेगैंडा में शामिल हैं। काटजू आगे लिखते हैं कि आज गुजरात में मुस्लिम डर के साये में जी रहे हैं। उन्हें लगता है कि अगर वे 2002 के खिलाफ बोलेंगे तो उन्हें निशाना बनाया जाएगा। काटजू कहते हैं कि देश के सभी मुस्लिम आज मोदी के खिलाफ हैं हालांकि इसमें से कुछ ही लोग यह विरोध किसी ठोस कारण से करते हैं। मोदी के समर्थक दावा करते हैं कि गुजरात में जो हुआ वह गोधरा में एक ट्रेन में 59 हिंदुओं की हत्या की प्रतिक्रिया थी। गोधरा में क्या हुआ यह तो आज भी रहस्य है। गोधरा के हत्यारों को सख्त कानूनी सजा दी जानी चाहिए थी। पूरे मुस्लिम समुदाय पर हुए हमले को ठीक नहीं कहा जा सकता है जो राज्य में केवल 9 फीसदी हैं। 2002 में मुस्लिमों का जनसंहार किया गया, उनके घर जलाए, उन पर भयानक अत्याचार हुए।
काटजू ने गोधरा दंगों पर लिखा था कि, गोधरा में क्या हुआ यह अब भी रहस्य बना हुआ है। वे इस पर भरोसा नहीं कर सकते कि 2002 में जो हुआ उसमें मोदी का हाथ नहीं था। जेटली ने उन पर निशाना साधा कि नॉन-कांग्रेस सरकार के खिलाफ उनके बयान से लगता है कि वे रिटायरमेंट के बाद नौकरी देने पर अहसान चुका रहे हों। जेटली ने कहा कि एक जज के तौर पर काटजू हमेशा फेल रहे हैं चाहे वह सिटिंग जज रहें हो या रिटायर्ड।
 काटजू ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी हमला करते हुए कहा था कि बिहार में प्रेस की आजादी नहीं है।
 साभार :भास्कर .कॉम 
  

कोई टिप्पणी नहीं: