गुरुवार, 17 अक्तूबर 2013

चाहे जो कुर्बानी देनी पड़े।




 
बाराबंकी। जल, जंगल, जमीन बचाने की लड़ाई किसान सभा के नेतृत्व में लड़ी जा रही है जिसके तहत जनपद के विभिन्न गांव में क्रमिक भूख हड़ताल दूसरी दिन भी जारी रही।
यह जानकारी देते हुए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला सह सचिव रणधीर सिंह सुमन ने बताया कि ग्राम चन्दनपुरवा, मुबारकपुर, भगौतीपुरवा व कोना गांव में कल से क्रमिक भूख हड़ताल जारी है।
आज निम्न गांवों में क्रमिक भूख हड़ताल प्रारम्भ किया गया है। जिसमें बिशुनपुर में विष्णू त्रिपाठी, उमाकान्त प्रजापति, रमेश, रामू, मसौली में रशीद, मो0 शरीफ, सुग्रीव प्रसाद, मेराज अहमद, दयाशंकर, चन्दनपुरवा में सन्तराम, मुरली, सुखमी, रामप्रकाश, शिवप्रसाद, जगदीश, जियनपुर गांव में धनवासी, सोनावती, तारावती, रामसागर, राममनोरथ मोहम्मदपुर गांव में रामलखन, सुरेन्द्र पाल, देशराज, मलके, रामगोपाल अलीपुर गांव में राममनोहर, अर्जुन सिंह मुनेश्वर, कपिल वर्मा, पंचमलाल मलूकपुर गांव में अवधेश कुमार, विश्राम, रामनरेश, बुधराम, सुन्दरलाल व मुबारकपुर, कोनागांव, भगौतीपुर, अजगना आदि गांवों में सैकड़ों किसान क्रमिक भूख हड़ताल कर रहे हैं।
उन्होनें आगे बताया कि जनपद के किसान अपना जमीन को किसी भी कीमत पर लखनऊ विकास प्राधिकरण या बाराबंकी विकास प्राधिकरण को अधिग्रहण नहीं करने देंगे। चाहे इसके लिए जो कुर्बानी देनी पड़े।


 नीरज वर्मा
    मंत्री
अखिल भारतीय किसान सभा
जनपद-बाराबंकी

कोई टिप्पणी नहीं: