मंगलवार, 8 जनवरी 2019

चौकीदार-चोर गिरोह की विदाई जनता तय कर रही है


बाराबंकी। चौकीदार-चोर-पेटकटवा गिरोह ने बैंक,बीमा बिजली सरकारी कर्मचारी संविदा कर्मचारी आशाबहू शिक्षामित्र आंगनबाड़ी पंचायत मित्र सहित संगठित और अंसगठित मजदूरों की तनख्वाहों में बढोत्तरी न करके कटौती की है इस तरह से आम जनता को भरपूर रोटी न मिल सके जिससे न वह जिन्दा रह सके न मर सके। 
यह बात भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा आयोजित जिला अधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए पार्टी के राज्य परिषद सदस्य रणधीर सिंह सुमन ने कहा  कि चौकीदार-चोर गिरोह की विदाई जनता मन में तय कर चुकी है इनके पास सी0 बी0आई0 के अलावा कोई अस्त्र नहीं है जो विरोध के स्वर को दबा सके। पार्टी के जिला सचिव बृजमोहन वर्मा ने कहा मॅहगाई आसमान छू रही है सरकार गौशाला खोलने का नाटक कर रही है। क्या गौशाला में साँड़ और नीलगाय व बन्दरों को भी बन्द किया जायेगा। 
पार्टी के सहसचिव ड़ा0 कौसर हुसैन ने कहा कि किसानों की हालत दयनीय है और 2014 से सरकार ने उनकी बेहतरी के लिए कोई कार्य नहीं किया है वही पार्टी के सहसचिव शिवदर्शन वर्मा ने कहा कि सरकार आरक्षण को हथियार बनाकर सत्ता में आने का जो ख्वाब देख रही है वह मात्र सरकार की जुमलेबाजी हैं। जब नौकरियां ही नहीं है तो आरक्षण कहाँ देगी सरकार?
किसान सभा के जिलाध्यक्ष विनय कुमार सिंह ने कहा कि राफेल घोटाले से लेकर बैंक घोटालों में सत्तारूढ़ दल का हाथ है इन घोटालों की वजह से देश की अर्थ व्यवस्था छिन्न-भिन्न हो गई है। 
प्रदर्शन में गिरीशचन्द, रामनरेश, प्रवीनकुमार, दलसिंगार, मुनेश्वरबक्स, राजेन्द्र बहादुर सिंह एडवोकेट, विनीतकुमार वमार्, अभिषेक वमार्, जैनुल आबदीन, सुरेश यादव ,वीरेन्द्र कुमार, महेन्द्र, राजेश सिंह, रमेश सिंह, दिग्विजय सिंह, मुशाहिद अली, जियालाल वर्मा , सत्यवान, अमर सिंह परमेन्दर वर्मा विनोद कुमार यादव आदि प्रमुख कम्युनिस्ट नेता शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं: