मंगलवार, 5 जनवरी 2016

पठानकोट : सारा पत्थर अयोध्या चला गया...

अातंकी अातंक फैलाते हैं, जवान शहीद होते हैं,कश्मीरी चाय तो पी आए, देश का क्या मोदी जी ....'ईंट का जवाब पत्थर से दे देते लेकिन सारा पत्थर अयोध्या चला गया है।' यह टिपण्णी माननीय उच्चतम न्यायलय के पूर्व न्यायाधीश मार्कंडेय काटजू ने पठानकोट आतंकी हमले को लेकर की है. वहीँ, एबीपी न्यूज़ ने लिखा कि 56 इंच का सीना, 67 घंटे का ऑपरेशन ? 
पंजाब केसरी ने लिखा है कि 'अातंकी अातंक फैलाते हैं, जवान शहीद होते हैं,कश्मीरी चाय तो पी आए, देश का क्या मोदी जी ....कि सत्ता संभालने से पहले लाउडस्पीकर लेकर पाकिस्तान को धूल चटा देने का ढिंढोरा पिटने वाले नरेंद्र मोदी पी.एम. बने तो अब उसी देश में जाकर अपना पसंदीदा साग खाने लगे। कश्मीर का मुद्दा भले ना सुलझे लेकिन पाकिस्तान में बैठकर कश्मीरी चाय भी पी आए, देश का क्या है। बेगुनाह मरते रहे हैं, मरते रहेंगे।' 
बीते शनिवार को जब आतंकियों ने पठानकोट में हमला किया तो उसकी जानकारी खुफिया एजेंसियों को 24 घंटे पहले मिल गई, फिर भी हमला हो गया। जवान शहीद होते रहे, घायल होते रहे और देश के प्रधानमंत्री मैसूर में फिर लाउडस्पीकर पर दहाड़ रहे थे- 'हमें जवानों पर गर्व है' लेकिन मुझे इस बात पर शर्म आती है कि 'देश नहीं झुकने दूंगा' का राग अलापने वाला प्रधानमंत्री खुली आंखों से देश को तबाह होते देख रहा है।
      पठानकोट में हुए आतंकी हमले के बाद ऑपरेशन आज भी चल रहा है. मीडिया सूत्रों के अनुसार पठानकोट एयरबेस के अन्दर विस्फोट होने की बात कही गयी है.वहीँ, रक्षा मंत्री मनोहर पारिकर ने सुरक्षा में चूक कहकर मामले को रफा दफा करने की कोशिश की है. 
भाजपा-अकाली शासित पंजाब के पुलिस महानिदेशक सुरेश अरोड़ा ने कहा कि केंद्र सरकार को समय से सूचना दे दुई गयी थी इसीलिए ऑपरेशन पूर्व एन एस जी की तैनाती हो गयी थी. यह बात और भी भयानक है कि सारी सुविधाएं होने के बाद भी सेना के सात जवान मारे गए तथा 20 घायल हुए और चौथे दिन भी ऑपरेशन जारी है. विरोध के नाम पर नवाज शरीफ से बात की के अतिरिक्त कुछ नहीं हुआ है. हम युद्ध करने की बात नहीं करते हैं लेकिन पकिस्तान से जिस सख्ती से पेश आना चाहिए वह सख्ती गायब है.  
               वर्तमान सरकार की कूटनीति, विदेश नीति तथा खुफिया तंत्र पूरी तरह से असफल रहा है. जिसका परिणाम पठानकोट आतंकी घटना है. भविष्य में भी अगर सरकार की यही स्तिथि रही तो देश का भला नहीं होने वाला है. हमारे प्रधानमंत्री जन सभा के एक अच्छे वक्ता हो सकते हैं लेकिन 56 इंच के सीने के साथ 6 इंच का दिमाग का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो नीरो की तरह बंशी ही बजाते नजर आयेंगे. जब ऑपरेशन चल रहा था तब वह योग का उपदेश दे रहे थे. 

2 टिप्‍पणियां:

uvesh313 ने कहा…

God Help & Protect our country

uvesh313 ने कहा…

God Help & Protect our country